बड़ी खबर.. पीएम मोदी के इस फैसले से प्रीपेड सिम रखने वाले यूजर्स के उड़ जाएंगे होश !

इसमें कोई दोराय नहीं कि आज देश में आधे से भी ज्यादा लोग प्रीपेड सिम का इस्तेमाल करते है. मगर आपको बता दे कि अब उन सब लोगो पर मुसीबत का पहाड़ टूटने वाला है. वैसे आप सोच रहे होंगे कि हम ऐसा क्यों कह रहे है. वो इसलिए क्यूकि अब तक तो ये लोग कही न कही से इंतजाम करके प्रीपेड सिम बाजार से खरीद लाते थे. इसके बाद बाजार में रिटेलर के पास जाकर अपना सिम कार्ड रिचार्ज करवा लेते थे. मगर अब आप ऐसा कुछ नहीं कर पाएंगे, क्यूकि हमारे देश के प्रधानमंत्री यानि मोदी साहब इसे लेकर एक कड़ा फैसला लेने वाले है.

जी हां अगर खबरों की माने तो मोदी सरकार आज कल इस तरह के प्लान पर काम कर रही है, जिसमे एक साल के अंदर अंदर हर प्रीपेड सिम कार्ड रखने वाले को अपनी पहचान साबित करनी ही होगी. ऐसे में पहचान साबित करने के बाद ही सिम कार्ड रिचार्ज करने की इजाजत दी जाएगी. दरअसल सरकार का कहना है, कि मोदी सरकार आधार से जुड़े केवाईसी जैसे प्रोजेक्ट को लेकर बहुत सोच समझ कर ही कदम उठाएगी. वही इसके लिए फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन में पारदर्शिता भी जरुरी है.

वैसे भी आज कल मोबाइल द्वारा ट्रांजेक्शन करने का चलन काफी बढ़ चुका है. ऐसे में सभी मोबाइल यूजर्स प्रीपेड सिम का ही इस्तेमाल करते है. यही वजह है, कि प्रीपेड सिम वालो को लेकर सरकार ये फैसला ले रही है. वैसे इसमें कोई संदेह नहीं कि यदि इस नियम को कड़े तरीके लागू किया गया तो इससे लोगो को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा. इससे उनकी बैंकिंग और मॉनिटरी ट्रांजेक्शन भी प्रभवित हो सकती है.

इन सब बातों पर गौर करने के बाद हम केवल इतना ही कह सकते है, कि आने वाले समय प्रीपेड सिम वालो के लिए नियम और भी कड़े हो जाएंगे, ठीक वैसे ही जैसे पोस्टपेड वालो के लिए है.