इस जेल में रोज चलता था अय्याशी का खेल, महिला कैदी सहित 27 लोगो को हुआ एड्स, विडियो वायरल

जेल एक ऐसी जगह होती हैं जहाँ अपराधी अपने पापो की सजा भुगतते हैं. इस जेल के अन्दर सुरक्षा का कड़ा पहरा होता हैं ताकि कोई भी कैदी यहाँ से भाग ना सके. साथ ही इस सुरक्षा का दूसरा कारण ये होता हैं कि कोई भी व्यक्ति बिना परमिशन के जेल के कैदियों को कोई बाहरी चीज उपलब्ध ना करवा सके. जैसा कि आप जानते हैं जेल में कैदियों को बहुत कम सुविधाएं दी जाती हैं. यहाँ उन्हें किसी भी प्रकार का ऐशो आराम नहीं मिलता हैं. जेल बनाने के पीछे की सोच भी यही हैं कि अपराधी को जेल की चार दिवारी में बंद कर बाहरी सुख साधनों से दूर रखा जाए. ऐसे में यदि कोई आप से कहेगा कि जेल के कैदी जेल के अन्दर ही शारीरिक संबंध बनाने जैसे सुख का आनंद भोग रहे हैं तो आपका भी दिमाग फिर जाएगा.

लेकिन ऐसा ही एक हैरान कर देने वाला मामला गाजियाबाद जिले के डासना नामक जेल से आ रहा हैं. यहाँ एक के बाद एक कई कैदी एचआईवी पॉजिटिव यानी एड्स नामक खतरनाक बिमारी के शिकार हो रहे हैं. इतने कैदियों का इस बिमारी की गिरफ्त में आना एक ही बात की ओर इशारा करता हैं कि जेल की चार दिवारी के अन्दर रोज अय्याशी का खेल चलता होगा. आइए विस्तार से जाने क्या हैं पूरा मामला…

जानकारी के मुताबिक ये पूरी घटना उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले के डासना जेल की हैं. डासना जेल उत्तर प्रदेश के सभी बड़े जेलों में से एक माना जाता हैं. अभी हाल ही में यहाँ कैदियों की बिगडती हालत के चलते एक मेडिकल टेस्ट किया गया था. इस टेस्ट में कई कैदी एड्स जैसी महामारी से पीड़ित नज़र आए. सूत्रों के मुताबिक अभी तक जेल में 27 कैदी HIV पॉजिटिव पाए गए हैं. इतनी अधिक मात्रा में कैदियों के बीमार पाए जाने पर जेल में हड़कंप मचा हुआ हैं. फिलहाल और भी कैदियों की जांच की जा रही हैं.

वर्तमान में डासना जेल के अन्दर करीब 5 हजार कैदी बंद हैं. इनमे से फिलहाल शुरूआती जांच में 1 महिला और 26 पुरुष कैदी HIV पॉजिटिव पाए गए हैं. आपको जान हैरानी होगी कि ये पहली बार नहीं हैं जब इस जेल के कैदी एचआईवी पॉजिटिव पाए गए हैं. इसके पहले पिछले साल इसी जेल में 49 कैदी एड्स के शिकार हुए थे. इस रिपोर्ट के कारण जेल के अन्दर होने वाली गतिविधियों पर तरह तरह के सवाल उठाए जा रहे हैं. इस संबंध में हाल ही में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने यूपी सरकार को नोटिस भी भेजा था. इस नोटिस में जेल प्रशासन के कैदियों की इस हालत के ऊपर रिपोर्ट मांगी गई हैं.

ऐसा माना जा रहा हैं कि शारीरिक संबंध बनाने की वजह से ये एड्स एक से अन्य कैदियों में भी महामारी के रूप में फैलता जा रहा हैं. इसी आशंका के चले जेल के अन्दर होने वाली हरकतों की एक जांच रिपोर्ट मांगी गई हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दे कि ये यूपी का अकेला ऐसा जेल नहीं हैं जहाँ कैदियों में एड्स के मामले आए हैं. इसके पहले कानपूर और जौनपुर सहित अन्य जेलों में भी इस तरह के मामले सामने आ चुके है.

देखे विडियो: