अभी अभी: इस जाने माने पूर्व क्रिकेट कप्तान का हुआ निधन, शौक में डूबा पूरा खेल जगत

दोस्तों भारत में लोग दो चीजों को लेकर सबसे ज्यादा दिलचस्पी होती हैं. पहली बॉलीवुड फिल्मे और दूसरी क्रिकेट मैच. यदि क्रिकेट की बात की जाए तो ये भारतियों का मनपसंद खेल हैं. आपको भारत के कोने कोने में बच्चे और बड़े क्रिकेट खेलते नज़र आ जाएंगे. शायद यही वजह हैं कि भारत में क्रिकेट खिलाडियों को काफी मान सम्मान दिया जाता हैं. लोग उनके बहुत बड़े फेन होते हैं. यहाँ हर गली मोहल्ले में क्रिकेट खेलने वाला लड़का बड़ा होकर सचिन, विराट और कोहली बनने के सपने देखता हैं. यही कारण हैं कि इंडिया में हर कोई क्रिकेट को बहुत अधिक महत्त्व देता हैं. सिर्फ लड़के ही नहीं बल्कि लड़कियां भी क्रिकेट की फेन होती हैं. वैसे क्रिकेट की ख़ास बात ही यही होती हैं कि ये सभी उम्र के लोगो को अपील करता हैं. वैसे इन दिनों भारत आईपीएल के रंग में डूबा हुआ हैं. हर तरफ इसी के चर्चे हो रहे हैं. लेकिन हमे बड़े दुःख के साथ कहना पड़ रहा हैं कि इस आईपीएल सीजन के बीच हमने एक बहुत जाने माने घरेलु क्रिकेटर को खो दिया हैं.

महाराष्ट्र रणजी टीम के पूर्व कप्तान राजू भालेकर का निधन

दरअसल हाल ही में महाराष्ट्र के रणजी टीम के पूर्व कप्तान रह चुके राजू भालेकर का 66 वर्ष की आयु में निधन हो गया हैं. राजू भालेकर एक शानदार बल्लेबाज़ के रूप में जाने जाते थे. हाल ही में शनिवार के दिन वे हम सभी को छोड़ चल बसे. जानकारी के मुताबिक उन्होंने महाराष्ट्र के पुणे शहर में अंतिम साँसे ली हैं. उनके परिवार में पत्नी, एक बेटा और अमेरिका में रह रही बेटी शामिल हैं.

हाल ही में कराई थी बाईपास सर्जरी

महाराष्ट्र की रणजी क्रिकेट टीम के लिए एक दशक से भी ज्यादा खेलने वाले राजू भालेकर पिछले कुछ समय से बीमार भी चल रहे थे. ऐसा बताया जा रहा हैं कि उन्होंने पिछले सप्ताह ही अपनी बाईपास सर्जरी करवाई थी. दरअसल उनके अंदरूनी अंगो ने वर्क करना बंद कर दिया था. यही वजह हैं कि उनका निधन हो गया.

ऐसा रहा क्रिकेट करियर

यदि राजू भालेकर के करियर की बात की जाए तो उन्होंने अपने क्रिकेट की करियर की शुरुआत साल 1970 में की थी. उन्होंने करीब 74 प्रथम श्रेणी के मैच खेले, जिसमे 40 के औसत से 3,877 रन बनाए. इस बीच उनका सबसे बढ़िया स्कोर 207 रनों का रहा. वे ज्यादातर मैच के दौरान माध्यम क्रम में बल्लेबाजी करना पसंद करते थे. वे अपने करियर में कुल 7 सतक भी जड़ चुके हैं. इसके अतिरिक्त उन्होंने 50 ओवर वाले 11 घरेलु मैच भी खेले हैं.

खेल जगत में छाया मातम

राजू भालेकर के अचानक निधन की खबर ने कई लोगो को उदास कर दिया हैं. जहाँ एक तरफ उनका पूरा परिवार दुःख के समंदर में डूबा हुआ हैं तो वहीँ क्रिकेट और खेल जगत के खिलाड़ियों ने भी उनके निधन पर शौक व्यक्त किया हैं. राजू भालेकर के कई महाराष्ट्रियन फेंस भी थे जिन्हें उनकी मौत की खबर से दुःख हुआ हैं. फिलहाल हम भी इश्वर से उनकी आत्मा की शान्ति की प्रार्थना करते है. साथ ही हमारी पूरी सहानुभूति और सांत्वना उनके परिवार के लोगो के साथ हैं.