12 में से ये चार राशियाँ होती हैं सबसे ज्यादा भाग्यशाली, देखे कहीं ये आपकी राशि तो नहीं

27 Views

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार कल 12 राशियाँ होती है जिनपर पड़ने वाले ग्रह दशा के अनुसार किसी का भविष्य या वर्तमान में चल रही उथल पुथल का पता लगाया जाता है. वैसे तो कुल 12 राशियाँ होती हैं लेकिन इनमे से कुल चार राशियाँ ऐसी भी होती है जो सबसे ज्यादा भाग्यशाली होती है. आज हम आपको ज्योतिषशास्त्र के अनुसार उन चार राशियों के बारे में बताने जा रहे हैं जो की किस्मत से बुलंद होते हैं और जिन्हें जीवन में ज्यादा संघर्ष नहीं करना पड़ता हैं. तो आईये जानते हैं की कौन सी है वो भाग्यशाली चार राशियाँ.

ये हैं वो चार राशियाँ जो होती हैं सबसे ज्यादा भाग्यशाली

मेष राशि

बारह राशियों के इस चक्र में सबसे पहली राशि है मेष राशि. आपको बता दें की इस राशि का स्वामी मंगल होता है और इसलिए ये राशि वाले सबसे ज्यादा ताकतवर और अदभुत कार्य क्षमता वाले होते हैं. इस राशि के जातक अपनी नेतृत्व क्षमता के कारण हर क्षेत्र में सफल होते हैं और इसलिए ये सबसे ज्यादा भाग्यशाली कहलाते हैं. इस राशि का स्वामी मंगल इन्हें हर कदम पे मदद करता है जिस वजह से ये हर कार्य को आसानी से कर पाने में सफल होते हैं. इस राशि के लोग काफी मेहनती भी होते हैं जिस वजह से इन्हें सफलता जरूर मिलती है और इसलिए ये बाकि रशियों की तुलना में काफी भाग्यशाली होते हैं.

वृश्चिक राशि

आपको जानकर हैरानी होगी की मेष राशि की तरह ही वृश्चिक राशि का स्वामी भी मंगल होता है. इस राशि का स्वामी मंगल होने की वजह से इस राशि के जातक काफी साहसी और निडर होते हैं. ये जीवन में किसी भी रिस्क को लेने से चूकते नहीं है और चूँकि इनके ऊपर मंगल ग्रह की छाया होती है इसलिए ये अपने किये सभी कामों में सफलता प्राप्त कर लेते हैं. अपनी मेहनत और लगन के दम पर इस राशि की लोग काफी शक्तिशाली बन जाते हैं और हर काम सफलता पाते हैं. आपको बता दें की वृश्चिक राशि के लोग किसी भी काम को करने से डरते नहीं है क्यूंकि इनमे वो ज़ज्बा होता है की ये सभी कामों को खुद से कर सकें. इसलिए ये राशि भी बाकी की बारह राशियों की तुलना में काफी भाग्यशाली मानी जाती है.

मकर राशि

इसके बाद आती है मकर राशि, इस राशि वालों की गिनती भी सबसे ज्यादा भाग्यशाली लोगों में की जाती है. मकर राशि का स्वामी शनि होता है जिसे की ग्रहों में ख़ास स्थान दिया गया है. चूँकि मकर राशि का स्वामी शानि है इसलिए इस राशि के लोगों पर शनिदेव की विशेष कृपा रहती है. इस राशि के जातकों की सबसे ख़ास बात ये हैं की ये आत्मविश्वास से भरपूर होते हैं और शनि इनका नेतृत्व करता है. इस राशि एक लोग अपनी मेहनत और लगन के दम पर हर क्षेत्र में उपलब्धि पाने में सफल रहते हैं. इस राशि के जातकों पर शनि की विशेष कृपा दृष्टि होने की वजह से कोई इनका चाह का भी बुरा नहीं कर पाता है.

कुम्भ राशि

कुम्भ राशि भी बाकी की 12 राशियों की तुलना में काफी भाग्यशाली मानी जाती है. ये राशि बारह राशियों के चक्र में 11 वें नंबर पर आती है और इस राशि के स्वामी भी शनि ही है. आपको बता दें की शनि को कर्मफल दाता कहा जाता है यानि की जो जैसा काम करेगा उसको फल भी उसके अनुसार ही मिलता है. कुम्भ राशि के जातकों का स्वामी ग्रह शनि है इसलिए इस रस्शी के लोग जितनी मेहनत और शिह्द्दत के साथ काम करते हैं उन्हें इसका फल भी उसी के अनुसार मिलता है. उम्भ राशि के लोग यदि पूरी लागन से कोई कम करते हैं तो उनका स्वामी ग्रह शनि उनका पूरा साथ देते हैं और उन्हें शिखर तक पहुँचातें हैं. कुम्भ राशि के लोग सोचते ज्यादा हैं और इसलिए ये जल्द ही अपने जीवन से जुड़ी कोई अच्छी योजना बनाने में सफल रहते हैं. ये बुद्धिमानी से हालातों को समजते हुए काम करते हैं और इसलिए बाकी राशियों से ज्यादा भाग्यशाली साबित होते हैं.