ये पढ़ लेंगे तो खिचड़ी से प्यार हो जाएगा.. हल्का का हल्का और स्वाद भरा खाना

चावल और दालों से बनने वाला एक आसान सा खाना जो कोई भी आराम से बना सकता है. वो है खिचड़ी, जी हां आज बात करेंगे सबसे हल्के खाने खिचड़ी  की जिसे बनाना जितना आसान है उतना ही फायदेमंद है आपकी सेहत के लिए. खिचड़ी पौष्टिक होने के साथ साथ हल्की भी होती है जो आसानी से पचने में मददगार होती है. कुछ लोग तो खिचड़ी का नाम सूनते ही नाक मुंह सिकोड़ते है, अधिकतर लोग खिचड़ी को बीमार लोगों के खाना मानते है, लेकिन इसमें इतने गुण होते है जो आपकी सेहत को हमेशा फायदे देती है. इसलिए अगर हल्का खाने का मन हो तो खिचड़ी बनाएं और मजे से खाएं. वैसे तो खिचड़ी में मसाला नाम मात्र ही होता है लेकिन अगर आप चाहे तो स्वाद के लिए थोड़े चटपटे स्वाद के लिए मसाले का इस्तेमाल कर सकते है.

खिचड़ी को आप दही, आचार, घी के साथ मिला कर खा सकते है. मूंग की दाल की बनी खिचड़ी और भी फायदेमंद होती है, क्योंकि इसमें कार्बोहाइड्रेटस, प्रोटीन, फास्फोरस, मैग्निशियम, पौटाशियम अन्य चीजें भरपूर मात्रा में पाई जाती है. जो आपके शरीर को बहुत लाभ देता है. खिचड़ी का धार्मिक महत्व भी है जो मकरसंक्रान्ति के दिन खिचड़ी बनाई जाती है.

Image result for खिचड़ी

भरपूर पोषक तत्व –

खिचड़ी कार्बोहाइड्रेट, विटामिन, कैल्शियम, फाइबर्स, मैग्नीशियम, पोटैशियमऔर फॉस्फोरस से भरे होते है. आप चाहे तो खिचड़ी में सब्जियां भी मिला सकते है जो इसके पोषण को और भी बढ़ा देती है.

पाचनक्रिया में करती है मदद-

आपने देखा होगा जब आप बीमार पड़ते हो तो डाक्टर आपको हल्का खाना खाने के लिए कहते जैसे दलिया यां खिचड़ी, क्योंकि खिचड़ी हल्की होने के कारण आसानी से पच जाती है, और आपकी भूख भी मिटा देती है. इसके आलावा इसमें अधिक मसाला, तेल का इस्तेमाल नहीं होता जो आपको बीमारी के समय आसानी से पच जाती है.

Image result for खिचड़ी

छोटे बच्चों और महिलाओं को भी ही फायदेमंद-

10-11 महीने के बच्चे का मेटाबोलिज्म बहुत कमजोर होता है, इसलिए बच्चे जो भी खाने खाता है उनको आसानी से नहीं पच पाता है. लेकिन खिचड़ी बच्चों के लिए भी लाभकारी होती है. ये आसानी से पच जाती है. वहीं गर्भवस्था के समय और डिलीवरी के बाद औरतों के पेट में कब्ज की स्थिति बन जाती है तो ऐसे में खिचड़ी खाना बहुत मदद करती है. क्योंकि इसे खाने से अतिरिक्त भारीपन नहीं होता और जल्दी पच जाती है.

भारी खाना खाने का जब मन ना हो-

कभी कभी खाना बनाने का मन नहीं करता ऐसे में आपके पास सबसे आसान तरीका होता है खिचड़ी बनाना. आलस के मूड में खिचड़ी कम समय में बन कर आपकी भूख मिटाने में सबसे पहले मदद करती है. स्वाद को और बढ़ाने के लिए कुछ अलग सामग्री मिला कर एक अलग टेस्ट बना सकते है.