केवल कान खुजाने के लिए ही नहीं, बल्कि इस काम के लिए भी अपनी छोटी ऊँगली का नाख़ून बढ़ाते है पुरुष

19 Views

यूँ तो हर लड़की को अपने हाथो के नाख़ून बढ़ाना बेहद पसंद होता है, लेकिन बहुत सी लड़कियां ऐसी होती है, जो खास तौर पर अपनी छोटी ऊँगली का नाख़ून बढ़ाना ज्यादा पसंद करती है. इसके इलावा आपको जान कर ताज्जुब होगा कि केवल लड़कियां ही नहीं बल्कि कई लड़के भी ऐसे होते है, जो अपनी छोटी ऊँगली का नाख़ून बढ़ाना पसंद करते है. मगर यहाँ सोचने की बात ये है कि केवल छोटी ऊँगली का नाख़ून बढ़ाना ही इतना जरुरी क्यों समझा जाता है. जी हां हर किसी के दिमाग में ये सवाल उठता है कि बाकी उंगलियों के नाखुनो ने आखिर ऐसा क्या बिगाड़ा है, जो उन्हें बढ़ाने के बारे में नहीं सोचा जाता.

बरहलाल अब यूँ तो ये सवाल इतना ज्यादा महत्वपूर्ण नहीं है, लेकिन फिर भी ऐसा करने के पीछे एक बहुत बड़ी वजह छिपी है, जिसके बारे में जान कर यक़ीनन आप भी यकीन नहीं कर पाएंगे. वैसे आपको हर मोहल्ले, बस या सड़क पर ऐसे कई लोग मिल जायेंगे या दिख जायेंगे जिनका ये नाख़ून बड़ा हुआ होता है. यहाँ तक कि पुरुषो में भी इस नाख़ून को बढ़ाने का काफी क्रेज देखा जाता है. इसलिए आज हम आपको बताएंगे कि आखिर छोटी ऊँगली का नाख़ून ही क्यों बढ़ाया जाता है. गौरतलब है कि इसके पीछे सबसे बड़ा कारण ये बताया जाता है, कि इस नाख़ून को बढ़ाने से शरीर के कठिन या मुश्किल हिस्सों तक पहुंचना आसान हो जाता है.

जी हां जैसे कि शरीर के जिन हिस्सों पर आपका हाथ नहीं पहुंचा सकता, जैसे कि आपकी पीठ और आपके कान का भीतरी हिस्सा इन जगहों को खुजलाने के लिए इस नाख़ून का बखूबी इस्तेमाल किया जाता है. अब ये तो एक छोटा सा कारण समझा जा सकता है. मगर इसके पीछे कुछ ऐसे कारण भी है, जो सुनने में काफी सही लगते है. जी हां अगर हम इतिहास की बात करे, तो पहले के समय में इस ऊँगली के नाख़ून को बढ़ाना धनवान होने का प्रतीक माना जाता था. केवल इतना ही नहीं इसके इलावा ये आपके उच्च जाति के होने की निशानी तक समझा जाता था. ऐसे में उस जमाने में लोगो को अपनी छोटी ऊँगली का नाख़ून बढ़ा कर रखना पड़ता था, क्यूकि इसी नाख़ून से उनकी मान और सामाजिक प्रतिष्ठा जुडी हुई होती थी.

इसके इलावा कई इलाको में इस ऊँगली के नाख़ून को बढ़ा कर सजाने और पेंट करने का भी रिवाज था. इसके बाद इसे इसलिए बढ़ाया जाने लगे, ताकि लोग खुद को मजदूरों की श्रेणी से अलग दिखा सके. जी हां आपको जान कर हैरानी होगी कि बढे हुए नाख़ून से ऐसा लगता था जैसे वो व्यक्ति कोई प्रशासनिक पद पर हो. यही वजह है कि इतिहास के समय से चली आ रही ये परम्परा आज तक चली आ रही है. हालांकि आज के समय के लोग काफी मॉडर्न हो चुके है और वो इन सब बातों में कम ही यकीन करते है. मगर फिर भी जो कारण यहाँ बताया गया है वो देखने और सुनने में काफी वाजिब सा लगता है.

इसलिए हम तो यही कहेगे कि इस नाख़ून को बढ़ाने से आपका फैशन भी बरकरार रहेगा और ये भी हो सकता है कि इससे आपकी किस्मत ही बदल जाए.