यहाँ दूल्हा दुल्हन को तीन दिनों तक नहीं जाने देते टॉयलेट, वजह जान उड़ जाएँगे होश

दोस्तों किसी भी व्यक्ति के साथ जिंदगी भर का साथ निभाने के लिए शादी करने का रिवाज़ कई सदियों से चला आ रहा हैं. शादी एक ऐसी चीज हैं जो दुनियां के हर कौने में की जाती हैं. आप किसी भी धर्म या देश के हो ये शादी हर जगह अपने लाइफपार्टनर के साथ आधिकारिक रूप से जीवन बिताने के लिए अनिवार्य होती हैं. वैसे इन दिनों भारत में शादी का काफी सीजन चल रहा हैं. ऐसे में आप ने तरह तरह की शादियाँ देखी होगी. भारत में होने वाली हर तरह की शादियों से तो आप अच्छी तरह वाकिफ होंगे. यहाँ तक कि विदेशों में होने वाली आम शादियों के बारे में भी टीवी पर देखा और सूना होगा. दुनियांभर में होने वाली इन शादियों में अलग अलग रस्मे और रीती रिवाज़ होते हैं जिनका पालन दूल्हा दुल्हन जरूर करते हैं.

लेकिन आज हम आपको एक ऐसी अनोखी शादी के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसमे होने वाली एक रस्म के बारे में सुन आपका दिमाग पूरी तरह से हिल जाएगा. इस रस्म के अनुसार दूल्हा और दुल्हन को शादी के बाद तीन दिनों तक टॉयलेट नहीं जाने दिया जाता हैं. जी हाँ आप ने सही पढ़ा. यहाँ शादी वाले दिन से लेकर अगले तीन दिनों तक दुल्हा दुल्हन के टॉयलेट जाने पर पूरी तरह से पाबंदी होती हैं.

दरअसल ये अजीबो गरीब रिवाज़ इंडोनेशिया के टीडॉन्ग समुदाय के लोग निभाते हैं. इस समुदाय के लोग इस रस्म को बहुत अधिक महत्त्व देते हैं. इस समुदाय में जब भी किसी लड़के और लड़की का विवाह होता हैं तो वो लोग भी इस रस्म का पालन बड़ी इमानदारी से करते हैं. अब ऐसे में आप के दिमाग में ये सवाल उठ रहा होगा कि आखिर दूल्हा दुल्हन के टॉयलेट जाने पर रोक क्यों लगाईं जाती हैं? तो चलिए हम इस राज से भी पर्दा उठाए देते हैं.

इस समुदाय के लोगो का कहना हैं कि शादी एक पवित्र समारोह होता हैं. ऐसे में जब दूल्हा दुल्हन शादी के बाद टॉयलेट जाते हैं तो इसकी पवित्रता भंग हो जाती हैं. साथ ही यदि कोई ऐसा करता भी हैं तो उसे बड़ा अपशगुन माना जाता हैं. बस यही वजह हैं कि यहाँ इस रस्म के चलते दूल्हा दुल्हन के तीन दिन तक टॉयलेट जाने पर मनाही होती हैं.

टीडॉन्ग समुदाय का यह भी कहना हैं कि टॉयलेट एक ऐसी जगह हैं जिसे कई लोग इस्तेमाल करते हैं. यहाँ लोग अपने शरीर की गन्दगी निकालते हैं. जिससे इस जगह से नकारात्मक शक्तियां फैलती हैं. ऐसे में यदि दूल्हा या दुल्हन उसी टॉयलेट को यूज करते हैं तो ये नकारात्मक शक्तियां उनके अन्दर भी समावित हो जाती हैं और उनके शादीशुदा जीवन में कई परेशानियां आने लगती हैं. टॉयलेट जाने से बचने के लिए शादी के तीन दिनों तक दूल्हा दुल्हन को बहुत कम खाना दिया जाता हैं ताकि वे टॉयलेट जाने से बच सके और कोई अपशगुन भी ना हो.

वैसे इस अजीबो गरीब रिवाज़ के बारे में आप लोगो का क्या ख़याल हैं? क्या आप खुद को तीन दिनों तक टॉयलेट जाने से रोक सकते हैं? अपने जवाब कमेन्ट सेक्शन में जरूर दे.